Friday, March 29, 2019

7 Tips : इन बातो का रखे ध्यान, जब हो जाये किसी पुलिस से आमना सामना

बहुत बार सभी के साथ ऐसा होता है की पुलिस के अचानक रोकने पर लोग घबरा जाते है, पुलिस चेकिंग के दौरान ज्यादातर लोग यही सोचते है की किसी तरह चेकिंग से बचा जाये। हालाँकि वो तो हमारी सेफ्टी के लिए ही है, हमें डरने की कोई जरूरत नहीं। जो हम बताने जा रहे है वो, अधिकारियों से इंटरेक्शन के टाइम कुछ ऐसी बातें और टिप्स हैं, जो आपको हेमशा अपने ध्यान में रखना चाहिए।


हाईकोर्ट एडवोकेट संजय मेहरा कहते है कि इन्हें आप अगर फॉलो करेंगे तो पुलिस का डर आपके मन से बिलकुल खत्म हो जाएगा। आज ऐसी ही कुछ बातें बता रहे हैं जो बहुत कोमन है पर शायद आपको पता नहीं है, और वो आपको पता होनी चाहिए।


हम आपको बता दें की आपके व्यवहार से ही पुलिस को अरेस्ट करने का मौका मिल सकता है..
 - पुलिस अधिकारी से आप क्या कह रहे हैं, यह मायने रखता है। आप जो कुछ कह रहे हैं, उसे ही अधिकारी आपके विपरीत यूज कर के आपको अरेस्ट कर सकते है। ऐसा ज्यादातर तब होता है, जब आप पुलिस से कुछ ज्यादा ही बहस कर लेतें हैं।


- आपको और आपके वाहन को कभी भी रोके तो सर्व प्रथम आप अपना ड्राइविंग लाइसेंस और रजिस्ट्रेशन दिखाएं। इसके बाद पुलिस अधिकारी आपका नाम पूछ सकते है, इस मामले में अगर आप कुछ बहसबाजी कर लेते हैं तो पुलिस आपको अरेस्ट भी कर सकती है।


- पुलिस अधिकारी अगर आपके घर, या फिर कार या कोई वाहन को सर्च कर रही है तो उन्हें आप मना कर सकते हैं। क्योंकि इस से कोर्ट में आपको नुकसान झेलना पड़ सकता है। पुलिस यदि कह रही है कि उनके पास सर्च वॉरंट है तो उन्हें आप वो सर्च वॉरंट दिखाने को कहें।

किन किन बातों का ध्यान रखें...



 - कुछ भी बोलने से पहले सोचें, हरकत, बॉडी लैंग्वेज और भावनाओं पर ध्यान दें।
 - पुलिस अधिकारी से कभी भी ज्यादा बहस न करें। ऐसा कुछ भी न कहें, जो आपके ही खिलाफ चला जाए।
 - यदि पुलिस आपकी चेकिंग कर रही है तो आप भी पूरा सहयोग करें अपने हाथो को ऊपर कर लेवें। कभी भागें नहीं। और तो और पुलिस ऑफिसर को कभी टच न करें।
 - आपको पता है की आपका कोई गुनाह नही है फिर भी पहली बार में ही पुलिस का विरोध ना करे। शिकायत  न करें। और न ही वारदात से जुड़ा कोई स्टेटमेंट दें।
 - किसी वजह अरेस्ट होते हैं तो सबसे पहले अपने वकील को जानकारी दें। ऑफिसर का बैज और पुलिस की गाड़ी का नंबर देख लें।
 - कोई पीड़ित है तो उसका नाम और उसका मोबाइल नंबर लें। यदि आप जख्मी हुए हैं तो इंज्युरी की फोटो लें।
 - यदि आपको लगता है कि आपके अधिकार का कहीं उल्लंघन हुआ है तो पुलिस डिपार्टमेंट में रिटन कम्पलेंट करें।
Share This
Previous Post
Next Post

0 comments: